उन्नाव कांड: सीबीआई ने तत्कालीन थानेदार और दरोगा को किया गिरफ्तार

उन्नाव गैंगरेप कांड में सीबीआई ने बुधवार को एक और बड़ी कार्रवाई करते हुए माखी थाने के तत्कालीन थानेदार अशोक सिंह भदौरिया और दरोगा कामता प्रसाद सिंह को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया. दोनों पर पीड़िता के पिता को अवैध रूप से गिरफ्तार करने और हत्या की साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. दोनों की गिरफ्तारी के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि उन्नाव जिले के कुछ बड़े अधिकारियों पर भी कार्रवाई हो सकती है.
सीबीआई के आईजी जीएन गोस्वामी ने बताया कि अशोक सिंह भदौरिया और कामता प्रताप सिंह को आईपीसी की धारा 120बी, 193, 201, 218 और 3/25 शस्त्र अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है. इन दोनों को सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया था. इसके बाद गिरफ्तार कर लिया गया.
गौरतलब है कि पिछले दिनों मामले की सुनवाई करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी में देरी को लेकर हाईकोर्ट ने सीबीआई पर सवाल खड़े किए थे.
हालांकि, सीबीआई ने दोनों की गिरफ्तारी की जानकारी उन्नाव जिले के आला अधिकारियों को भी नहीं दी थी. गिरफ्तारी के बाबत पूछने पर अधिकारियों ने सूचना न होने की बात कही.सीबीआई सूत्रों के मुताबिक पीड़ित महिला का केस दर्ज करने में देरी और उसके पिता के साथ मारपीट मामले में भी दोनों की संलिप्तता सामने आई है. माना जा रहा है कि पूछताछ में दोनों दरोगा उन अधिकारियों के नाम का खुलासा कर सकते हैं, जिनके इशारे पर ऊंची पहुंच के आरोपियों को बचाने की कोशिश की गई.

ई-पत्रिका

धर्म

विचार

Scroll Up