Home » सड़क दुर्घटना रोकने के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के इस सुझाव को मानेंगी कंपनियां

सड़क दुर्घटना रोकने के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के इस सुझाव को मानेंगी कंपनियां

नई दिल्ली: भारत में हर साल लाखों लोग सड़क हादसों में अपनी जान गंवा देते हैं. अकसर लोग सरकार को भी इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हैं. कई बार ड्राइवर की गलती से दुर्घटना होती है तो कई बार देखा गया है कि सड़क और वाहन का डिजाइन भी इसके लिए जिम्मेदार होता है. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सड़क हादसों पर लगाम लगाने के लिए वाहन कंपनियों से वाहनों के डिजाइन को बेहतर एवं सुरक्षित बनाने और टायरों में सिलिकॉन के उपयोग की संभावना तलाशने के लिए मिलकर काम करने को कहा है. गडकरी ने भारतीय वाहन उद्योग को अपने सदस्यों को सुरक्षित ड्राइविंग पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा है.  केंद्रीय मंत्री ने दक्षिण कोरिया की तर्ज पर सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के ठोस प्रयासों पर भी गौर करने को कहा है, जिसके चलते दुर्घटनाओं की संख्या में सफलतापूर्वक कमी आई और पांच वर्ष पहले दुर्घटनाओं की संख्या 13,000 (सालाना) से घटकर 213 रह गई है.उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए वाहन निर्माताओं को आगे आना चाहिए. यहां अनुसंधान और नवाचार की जरूरत है. गडकरी ने सड़क सुरक्षा पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, “हादसों को कम करने के लिए टायरों में सिलिकॉन का उपयोग करने की संभावनाएं तलाशनी चाहिए क्योंकि तापमान में वृद्धि के कारण यमुना एक्सप्रेसवे जैसे राजमार्गों पर टायर फट जाते हैं.” उन्होंने कहा कि वाहनों को दुर्घटना रोकने के लिहाज से डिजाइन किया जाना चाहिए और ट्रक के ढांचे में सुरक्षा के पर्याप्त उपाय होने चाहिए. गडकरी अंतरराष्ट्रीय रोड फेडरेशन (आईआरएफ), फिक्की, सीआईआई, सियाम और एसोचैम के सहयोग से अपने मंत्रालय द्वारा आयोजित’ सड़क सुरक्षा पर कंपनियों के साथ आयोजित सम्मेलन’ को संबोधित कर रहे थे.

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म