जम्मू-कश्मीर गए विदेशी राजनयिकों का दल संतुष्ट, कहा- विकास के लिए जरूरी था आर्टिकल 370 हटाना

नई दिल्ली। 25 विदेशी राजनयिकों का दल जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के तहत प्राप्त विशेष दर्जा वापस लेने के छह महीने बाद केंद्र शासित प्रदेश की स्थिति का जायजा लेकर वापस लौट आया है। दल के सदस्यों से राज्य की स्थिति को लेकर मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली। यूरोपीय दल के अधिक सदस्य संतुष्ट नजर आए। हालांकि दल के अधिकतर राजनयिकों ने राज्य में व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से चलाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। राजनयिकों ने यह भी महसूस किया कि राज्य में विकास के लिए आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाना जरूरी था।
गुरुवार सुबह प्रतिनिधिमंडल को XY कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन ने सुरक्षा के बारे में उनको जानकारी दी, इसके बाद यूरोपीय दल जम्मू चला गया। वहां उन्होंने लेफ्टिनेंट गवर्नर जी एस मुर्मू, मुख्य सचिव बी वी आर सुब्बू और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की।

ई-पत्रिका

धर्म

Scroll Up