ऑस्ट्रेलियाई ओपन बैडमिंटन के दूसरे दौर में पहुंचे प्रणीत और समीर वर्मा

सिडनी। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों दूसरे वरीय बी साई प्रणीत और चौथे वरीय समीर वर्मा ने आस्ट्रेलिया ओपन में सकारात्मक शुरूआत करते हुए यहां पुरुष एकल के दूसरे दौर में जगह बनाई। प्रणीत ने इजराइल के मिशा जिल्बरमैन को सीधे गेम में 21-17, 21-14 से हराया जबकि समीर को न्यूजीलैंड के अभिनव मनोता को इस एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 300 प्रतियोगिता के पहले दौर में 13-21 21-17 21-12 से हराने में काफी पसीना बहाना पड़ा।

समीर के भाई सौरभ वर्मा को हालांकि कड़े मुकाबले में जापान के ताकुमा उएदा ने 19-21 21-17 21-12 से हराया। गैरवरीय वरीय अजय जयराम को भी जापान के रिची ताकेशिता ने एक घंटा और 12 मिनट चले कड़े मुकाबले में 20-22 22-20 21-17 से हराया। आकलैंड में पिछले हफ्ते दो बार के ओलंपिक चैंपियन लिन डैन को कड़ी चुनौती देने वाले युवा लक्ष्य सेन भी सातवें वरीय हांगकांग के च्युक यीउ ली के खिलाफ 20-22 21-13 19-21 की हार के साथ प्रतियोगिता से बाहर हो गए।

प्रणीत अगले दौर में इंडोनेशिया के पणजी अहमद मौलाना से भिड़ेंगे जबकि समीर को ताकुमा का सामना करना है। करण राजन राजराजन को इंडोनेशिया के सोनी ड्वी कुनकोरो के खिलाफ 15-21 8-21 से हार का सामना करना पड़ा। साइन नेहवाल और पीवी सिंधू जैसे बड़े नामों की गैरमौजूदगी में जक्का वैष्णवी रेड्डी महिला एकल के दूसरे दौर में जगह बनाने वाली एकमात्र भारतीय रही। उन्होंने इंग्लैंड की जार्जीना ब्लेंड को 19-21 21-15 21-15 से हराया।

पुरुष युगल में तीसरे वरीय मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी ने लुकास डेफोल्की और माइकल फरिमैन की जोड़ी को 21-11 21-10 से हराया जबकि अर्जुन एमआर और रामचंद्रन श्लोक ने रेमंड टैम और एरिक वुयोग को 21-7 21-15 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई। फ्रांसिस एल्विन और के नंदगोपाल की भारतीय जोड़ी हालांकि ताइ इन जुंग और ह्वी तेइ किम की कोरिया की जोड़ी के खिलाफ जब 28-30 8-7 से पिछड़ रही थी तो पहले दौर के मुकाबले से हट गई।

रोहन कपूर और शिवम शर्मा की जोड़ी को भी टेंग जेई चेन और सून हुआत गोह की मलेशियाई जोड़ी के खिलाफ 15-21 21-15 7-21 से हार झेलनी पड़ी। महिला युगल में मेघना जक्कमपुडी और पूर्विशा एस राम की भारतीय जोड़ी ने मैगी चेन और जोडी वेगा की आस्ट्रेलिया की जोड़ी को सीधे गेम में 21-10 21-16 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई।

ई-पत्रिका

धर्म

विचार

Scroll Up