Rahul Gandhi: परिवार की पारंपरिक सीट संभालेंगे राहुल गांधी, वायनाड में उतरेंगी प्रियंका, कांग्रेस का बड़ा फैसला

Rahul Gandhi: परिवार की पारंपरिक सीट संभालेंगे राहुल गांधी, वायनाड में उतरेंगी प्रियंका, कांग्रेस का बड़ा फैसला

Rahul Gandhi: लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी वायनाड के साथ-साथ रायबरेली से भी चुनाव लड़े थे. दोनों ही सीटों पर उन्हें जीत भी मिली है. ऐसे में अब राहुल गांधी ने रायबरेली सीट अपने पास रखी है और वायनाड को छोड़ दिया है. पार्टी ने फैसला किया है कि उपचुनाव में प्रियंका गांधी वायनाड सीट से पहली बार मैदान में उतरेंगी.

Rahul Gandhi: पार्टी मीटिंग में हुआ फैसला

बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि हमारे नेता राहुल गांधी जी दो जगह से चुनकर आए हैं. ऐसे में उन्हें एक सीट छोड़नी पड़ेगी. पार्टी ने तय किया है कि उन्हें रायबरेली की सीट रखनी चाहिए. पार्टी ने तय किया है कि राहुल गांधी रायबरेली से सांसद रहेंगे और प्रियंका गांधी वहां से उप-चुनाव लड़ेंगी.

आपको बताते चलें कि कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के आवास पर पार्टी के तमाम बड़े नेताओं की एक बैठक हुई. इस बैठक में मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और के सी वेणुगोपाल भी शामिल हुए. काफी देर तक ये बैठक चली, जिसमें आखिरकार इस पर निर्णय लिया गया.

Rahul Gandhi: वायनाड से इमोशनल कनेक्शन

वायनाड सीट छोड़ने पर राहुल गांधी ने कहा कि मेरा रायबरेली और वायनाड से इमोशनल कनेक्शन है. पिछले पांच सालों में वायनाड का सांसद था. वहां के सभी लोगों ने, हर पार्टी के लोगों ने प्यार दिया. उसके लिए मैं दिल से धन्यवाद करता हूं. प्रियंका गांधी वायनाड से चुनाव लड़ेंगी, लेकिन बीच-बीच में मैं भी वहां जाता रहूंगा.जो वायदे किए वो पूरे करेंगे.

Rahul Gandhi: दोनों सीटों को मिल रहे दो-दो सांसद

इस पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि “मैं बहुत खुश हूं कि मैं वायनाड के लोगों का प्रतिनिधित्व करने जा रही हूं. मैं वायनाड को इनकी (राहुल गांधी) कमी महसूस नहीं होने दूंगी. रायबरेली के साथ तो हमारा 20 साल पुराना रिश्ता है और हमने वहां के लिए काम किया है तो वो रिश्ता तो टूट नहीं सकता है. हम दोनों रायबरेली में भी मौजूद होंगे और वायनाड में भी. राहुल गांधी ने कहा कि दोनों सीटों को दो-दो सांसद मिल रहे हैं.

N Chandrababu Naidu: चौथी बार आंध्र प्रदेश की कमान चंद्रबाबू नायडू के हाथ,ससुर से विद्रोह कर छीनी सत्ता की कुर्सी

Rahul Gandhi: 2019 में भी दो सीटों से लड़े थे राहुल

2019 में भी राहुल दो सीटों से चुनाव लड़े थे. एक सीट वायनाड थी और दूसरी अमेठी सीट थी. वायनाड सीट से उन्‍हें जीत मिली थी.अमेठी में राहुल गांधी को बीजेपी नेता स्मृति ईरानी के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. अमेठी में हार के बाद राहुल गांधी वायनाड सीट से सांसद रहे. अब 2024 के चुनाव में राहुल एक बार फिर से दो सीटों से मैदान में उतरे थे. इसमें एक सीट वायनाड तो दूसरी रायबरेली की थी. इस बार राहुल दोनों ही सीटों पर जीत हासिल करने में सफल रहे. वायनाड की तुलना में राहुल को रायबरेली में ज्यादा बड़ी जीत मिली है.

Rahul Gandhi: गांधी परिवार की पारंपरिक सीट रही है रायबरेली

2024 के चुनाव से ठीक पहले सोनिया गांधी चुनावी राजनीति से खुद को अलग करते हुए राजस्थान से राज्यसभा के लिए चुनी गईं. सोनिया गांधी रायबरेली से पांच बार सांसद चुनी गई थीं. 2019 तक रायबरेली की सीट सोनिया गांधी के पास ही रही थी. सोनिया गांधी से पहले भी रायबरेली की सीट पर गांधी परिवार का वर्चस्व रहा था. यही वजह है कि रायबरेली की सीट गांधी परिवार की पारंपरिक सीट मानी जाती है.

Related Articles

Back to top button