Home » पिछड़े वर्ग के लोग देश के शीर्ष पदों पर हैं, प्रतिद्वंद्वी इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं: PM मोदी

पिछड़े वर्ग के लोग देश के शीर्ष पदों पर हैं, प्रतिद्वंद्वी इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं: PM मोदी

नई दिल्ली: प्रतिद्वन्द्वियों पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि उनके विरोध का स्वरूप लगातार ‘हिंसक’ हो रहा है क्योंकि पिछड़ी जातियों में जन्म लेने वाले लोग आज शीर्ष पदों पर हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि विरोध का कारण भाजपा की बढ़ती ताकत के प्रति उनकी असहजता है। प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा के 38वें स्थापना दिवस के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत में यह बात कही। उनकी यह टिप्पणी इस सप्ताह भारत बंद के दौरान हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में आई है।

मोदी स्वयं अन्य पिछड़ा वर्ग से आते हैं। उन्होंने अपनी सामान्य पृष्ठभूमि का उल्लेख करते हुए कहा कि उनके प्रतिद्वन्द्वी इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं कि एक गरीब मां का बेटा देश का प्रधानमंत्री बन गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा नीत सत्तारूढ़ गठबंधन एक के बाद एक जीत दर्ज कर रहा है, वहीं कांग्रेस नीत विपक्ष का एजेंडा ‘‘मोदी हटाओ’ और कुर्सी हथियाओ’’ है और वे एक के बाद एक झूठ बोल रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आपने विपक्ष को देखा होगा कि वे किस प्रकार से मोदी सरकार का विरोध कर रहे हैं और यह सघन और गुस्सैल होता जा रहा है। यह देखा जा रहा है कि यह अब हिंसक भी होता जा रहा है। मोदी ने कहा, ‘‘इसका कारण यह नहीं है कि हमने गलतियां की हैं। इसका एकमात्र कारण यह है कि भाजपा की बढ़ती ताकत को वे पचा नहीं पा रहे हैं।’’ प्रतिद्वन्द्वियों पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि वे इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं कि एक गरीब मां का बेटा देश का प्रधानमंत्री बन गया। वे इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं कि पिछड़े वर्ग के लोग देश के शीर्ष पदों पर हैं।

उन्होंने कहा कि हमारे प्रतिद्वन्द्वी इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं कि भाजपा गरीबों की पार्टी बन गई है और सबसे ज्यादा अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के सांसद और विधायक भाजपा के हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके कारण भाजपा के खिलाफ हिंसक विरोध का माहौल तैयार किया जा रहा है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से विभाजनकारी एजेंडे के जाल में नहीं फंसने को कहा। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को संयम का परिचय देते हुए साल 2022 तक न्यू इंडिया के निर्माण के प्रयास को दोगुना करना चाहिए।

मोदी ने कहा कि न्यू इंडिया में सभी लोगों को आवास प्राप्त होगा और जो जात पात और साम्प्रदायिकता के बिना होगा। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए इस संदेश को फैलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज प्रौद्योगिकी के युग में वे यदि सोशल मीडिया पर सक्रिय नहीं है तो वे असामाजिक तत्वों और राष्ट्र विरोधी तत्वों के लिये जगह दे रहे हैं।

विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जिनके संगठन में लोकतंत्र नहीं है, वे देश में लोकतंत्र के प्रति कैसे प्रतिबद्ध रह सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज भाजपा के 38 वें स्थापना दिवस पर पांच लोकसभा सीटों के पार्टी कार्यकर्ताओं और पार्टी की 734 जिला इकाइयों के अध्यक्षों से संवाद किया। प्रधानमंत्री इनसे नरेन्द्र मोदी ऐप के जरिये वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से रूबरू हुए।

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म