प्राण प्रतिष्ठा: रामलला की मूर्ति का श्रृंगार, पंचांग-कलश-नवग्रह पूजन, 84 सेकंड का अभिजीत मुहूर्त…

Ayodhya News:प्राण प्रतिष्ठा: रामलला की मूर्ति का श्रृंगार, पंचांग-कलश-नवग्रह पूजन, 84 सेकंड का अभिजीत मुहूर्त...

Ayodhya:  आज यानि 22 जनवारी को अयोध्या में राम लला का प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम हो रहा है। इसके लिए पूरा देश आज उत्सुक नगर आ रही है। देश के हर मंदिर को आज अद्भूत  तरीके से सजाया और सवारा गया है। हर जगह श्री राम का भगवा ध्वज लहरा रहा है। वहींं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में खुद शामिल होंगे।

सोमवार को 12 सेकेंड 29 मिनट 8 सेकेंड से 12 सेकेंड 30 मिनट 32 सेकेंड के बीच अभिजीत गणेश द्वार पर भगवान राम की अयोध्या में नए मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। इसी प्रकार अभिजीत की 84 सेकेण्ड की धार्मिक गतिविधियाँ विधाता की इच्छा हैं। आज सुबह सबसे पहले दैनिक सन्देश में उन देवताओं की पूजा की सूची प्रकाशित की गयी है। प्रभु, रामलला जाग जायेंगे। इस दौरान विशेष मंत्रों का जाप किया जाएगा। फिर भगवान राम को स्नान करने की मंजूरी मिल जायेगी।

सुबह 11 बजे से 12 बजे के बीच हर तरफ वेदों के मंत्र गूंजेंगे। पीएम मोदी पूजा समारोह के मेजबान होंगे। उनके हाथों 84वें दूसरे अभिजीत महोत्सव में श्री रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होगी। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत, राज्यपाल आनंदीबेन, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास महाराज भी शामिल हुए।

22 जनवरी को अयोध्या में क्या होगा?

  • सुबह करीब 5:30 बजे श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के कपाट खुले। भगवान को स्नान कराकर शृंगार किया गया। जिस तरह स्थानीय मंदिर में रामलला की पूजा होती है, उसी तरह उनकी पूजा, शृंगार और भोग भी लगाया जाएगा।
  • प्राण-प्रतिष्ठा की जा रही मूर्ति का शृंगार भी किया जाएगा। सुबह करीब आठ बजे पंचांग पूजा के साथ प्राण-प्रतिष्ठा पूजा शुरू होगी। सबसे पहले गणेश अंबिका पूजा की जाएगी। उसके बाद कलश पूजा, सप्त घृत मातृका पूजा, षोडस द्रव्य पूजा होगी।
  • इनके बाद 64 योगिनी पूजन, भूमि पूजन, वास्तु पूजन, क्षेत्रपाल पूजन, 10 दिग्पाल पूजन, नवग्रह पूजन, ब्रह्मा-विष्णु-महेश और इंद्र पूजन होगा। इसमें यज्ञ मंडप और श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का पूजन होगा। इस पूरी पूजा के दौरान यजमान के रूप में अनिल मिश्रा और उनकी पत्नी मौजूद रहेंगे। ये दोनों सभी पूजाओं में शामिल होते हैं। यह साड़ी प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के निर्धारित महोत्सव पूजा से पहले तैयार हो जाएगी।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब श्री राम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह से बाहर आएंगे तो सबसे पहले पशुपालन मंदिर से निकले रामलला का दर्शन-पूजन करेंगे। इसके बाद वे पंचांग पूजा करेंगे। यह मंदिर पूजा है।

Related Articles

Back to top button