Lok Sabha elections 2024 on June 1: लोकसभा चुनाव 2024 का अंतिम रण 1 जून को,पीएम मोदी सहित कई बड़े दिग्गज मैदान में….

Lok Sabha elections 2024 on June 1: लोकसभा चुनाव 2024 का अंतिम रण 1 जून को,पीएम मोदी सहित कई बड़े दिग्गज मैदान में....

Lok Sabha elections 2024 on June 1: लोकसभा चुनाव अब अपने अंतिम दौर में पहुंच चुका है. लोकसभा चुनाव के सातवें चरण में आठ राज्यों की 57 सीटों पर एक जून को वोटिंग है. इस फेज में प्रधानमंत्री मोदी की वाराणसी सीट भी शामिल है. तो गोरखपुर से भोजपुरी स्टार रवि किशन, हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट से बीजेपी प्रत्याशी कंगना रनौत, कांग्रेस से विक्रामादित्य सिंह, हमीरपुर से केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर और बिहार की पटना साहिब से बीजेपी के रविशंकर प्रसाद सहित तमाम दलों को कई दिग्गज मैदान में हैं.

इसके अलावा पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के सियासी वारिस माने जाने वाले अभिषेक बनर्जी की डायमंड हार्बर और लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती की पाटलिपुत्र सीट पर इम्तिहान होगा.

Lok Sabha elections 2024 on June 1: इन राज्‍यों की सीटों पर है इम्तिहान

लोकसभा चुनाव के सातवें व अंतिम चरण में 57 सीटों पर चुनाव है. इसमें बिहार, चंडीगढ़, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल की सीटों पर चुनाव होगा. उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर 144 प्रत्याशी मैदान में हैं.

बिहार की आठ सीटों पर 134 उम्मीदवार, ओडिशा की 6 सीटों पर 66, झारखंड की तीन सीटों के लिए 52, हिमाचल प्रदेश की चार सीटों के लिए 37, पश्चिम बंगाल की 9 सीटों के लिए 124 और चंडीगढ़ की एक सीट पर 19 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं.

Lok Sabha elections 2024 on June 1: किस राज्‍य में किसका पलड़ा भारी

सातवें चरण की जिन 57 सीटों पर एक जून को चुनाव है, 2019 में बीजेपी ने 25 सीटें जीती थीं, तो कांग्रेस को सिर्फ 8 सीटों से संतोष करना पड़ा था. इसके अलावा जेडीयू को 3 सीटें मिली थीं, तो अपना दल (एस) दो सीटों पर जीत दर्ज की थी.

बीजेपी नेतृत्व वाला एनडीए 32 सीटें जीतने में कामयाब रहा, जबकि यूपीए को 9 सीटें ही मिलीं और अन्य दलों को 14 सीटें मिली थीं.

Lok Sabha elections 2024 on June 1: इन राज्‍यों में बदले हैं समीकरण

2024 का चुनाव बिल्‍कुल अलग मुड में नजर आया. जो पार्टियां साथ मिलकर चुनाव लड़ी, वो अब अलग-अलग चुनाव में अपनी किस्‍मत आजमा रहे हैं. तो कुछ बिछड़े साथी फिर से साथ नजर आ रहे हैं. 27 साल से पंजाब में बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली अकाली दल इस बार अलग होकर चुनाव लड़ रही है. इतना ही नहीं पंजाब में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी भी अलग-अलग चुनावी मैदान में है.

इसी तरह हिमाचल की सत्ता में इस बार कांग्रेस काबिज है, जिसके चलते बीजेपी के लिए क्लीन स्वीप करना आसान नहीं है. बिहार से लेकर यूपी तक में सियासी समीकरण बदले हुए हैं

Lok Sabha elections 2024 on June 1: यूपी की 13 सीटों पर सबकी नजर

1 जून को लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में उत्तर प्रदेश में की 13 सीटों पर मतदान होना है. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट वाराणसी भी है.

वाराणसी के अलावा सातवें चरण में पूर्वी उत्तर प्रदेश की चंदौली, मिर्जापुर, बलिया, गाजीपुर, घोसी, राबर्ट्सगंज, सलेमपुर, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, महाराजगंज और बांसगांव सीटों पर मतदान होना है.

ये सभी 13 सीटें पूर्वांचल क्षेत्र की हैं. 2019 के चुनाव में बीजेपी 13 में से 9 सीटें जीतने में कामयाब रही थी, जबकि दो सीटें उसके सहयोगी अपना दल (एस) ने जीती थीं और दो सीटें बसपा को मिली थीं. बसपा ने गाजीपुर और घोसी सीटें जीती थीं, तो अपना दल(एस) ने मिर्जापुर और राबर्ट्सगंज जीती थी.

Lok Sabha elections 2024 on June 1:

इस बार बीजेपी अंतिम चरण की 13 में से 10 सीट पर चुनाव लड़ रही है और तीन सीट पर सहयोगी दल हैं. अपना दल (एस) दो सीट पर, तो ओम प्रकाश राजभर की पार्टी एक सीट पर चुनाव लड़ रही है. वहीं, इंडिया गठबंधन की तरफ से सपा 9 सीट और कांग्रेस 4 सीट पर चुनावी किस्मत आजमा रही है.

7 seats of Delhi : दिल्‍ली की 7 सीटों पर क्‍या आप-कांग्रेस का गठबंधन,बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ा करेगा

बसपा सभी 13 सीट पर चुनाव लड़ रही है. इस चरण का चुनाव पूरी तरह से जातीय बिसात पर होता नजर आ रहा है, जिसमें ओबीसी वोटों के लिए भी सियासी खींचतान है. इसके अलावा बसपा के दलित वोट बैंक को भी साधने की कवायद बीजेपी और सपा दोनों ही कर रही हैं. पूर्वांचल के जातीय समीकरण को साधने में जो सफल रहेगा, उसके लिए सियासी राह आसान हो सकती है.

 

Related Articles

Back to top button