Home » रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाने पीछे नहीं हटेगा अमेरिका, व्लादिमीर पुतिन को डोनाल्ड ट्रंप की चेतावनी

रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाने पीछे नहीं हटेगा अमेरिका, व्लादिमीर पुतिन को डोनाल्ड ट्रंप की चेतावनी

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि रूस के प्रति उनसे ज्यादा सख्त रवैया किसी ने नहीं अपनाया और जब उन्हें लगेगा कि प्रतिबंध लगने चाहिए, लगाए जाएंगे. राष्ट्रपति का कहना है कि मुख्य धारा की मीडिया रूस के खिलाफ उठाए गए कदमों को देख नहीं सकी है. फ्लोरिडा के मार-ए-लागो में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘‘हां. हम प्रतिबंध लगाएंगे, जब लगना चाहिए. रूस के खिलाफ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जैसा सख्त रवैया किसी ने नहीं अपनाया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोई मुझसे ज्यादा सख्त नहीं रहा है. मैं चाहे जो कुछ भी करूं, वह मीडिया के लिए कभी कठोर नहीं होता, क्योंकि उनकी यही सोच है.’’

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली द्वारा रूस के खिलाफ सोमवार (16 अप्रैल) को प्रतिबंध लगाये जाने की बात कहे, जाने पर किए गए सवालों के जवाब में राष्ट्रपति ने यह टिप्पणी की. हालांकि, ट्रंप ने कहा कि रूस के साथ अच्छे संबंध होना ‘‘अच्छी बात है, बुरी बात नहीं है.’

इससे पहले बीते 18 अप्रैल को ब्रिटेन ने रासायनिक हथियारों पर दो दशक से लागू अंतराष्ट्रीय प्रतिबंध तोड़ने का रूस पर आरोप लगाया. गौरतलब है कि एक पूर्व रूसी जासूस को पिछले महीने ब्रिटेन में जहर दिया गया था. मामले पर चर्चा के लिए रासायनिक हथियार निषेध संगठन (ओपीसीडब्ल्यू) के राजनयिकों की हेग में एक बैठक होने के बीच ये आरोप लगाए गए हैं.

निगरानी संस्था के विशेषज्ञों ने पिछले हफ्ते ब्रिटेन के इन जांच नतीजों की पुष्टि की थी कि पूर्व रूसी डबल एजेंट सर्जेई स्क्रिपाल और उनकी बेटी को एक ‘नर्व एजेंट’ के जरिए जहर दिया गया था. ब्रिटिश राजदूत पीटर विल्सन ने कहा, ‘‘रूस का सरकार प्रायोजित हत्याकांड का एक साबित रिकॉर्ड है.’’ गौरतलब है कि 1997 में गठित ओपीसीडब्ल्यू का लक्ष्य दुनिया के रासानयिक हथियारों के भंडार को खत्म करना है.

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म