Home » आरक्षण के खिलाफ भारत बंद : आरा में हिंसक झड़प, फायरिंग, इंटरनेट पर रोक

आरक्षण के खिलाफ भारत बंद : आरा में हिंसक झड़प, फायरिंग, इंटरनेट पर रोक

नई दिल्ली। SC/ST एक्ट में हुए बदलावों के विरोध में 2 अप्रैल को दलित संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के खिलाफ सवर्णों ने आज भारत बंद बुलाया है। सोशल मीडिया पर कुछ संगठनों द्वारा कथित भारत बंद के ऐलान को लेकर देश के तमाम राज्यों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं।

गृह मंत्रालय की ओर से भारत बंद को लेकर जारी की गई अडवाइजरी और 2 अप्रैल को हिंसा की तमाम घटनाओं के बाद राजस्थान, मध्य प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के तमाम हिस्सों में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। आधिकारिक तौर पर किसी भी संगठन ने इस बंद का ऐलान नहीं किया है, लेकिन सोशल मीडिया पर तैर रही अफवाहों के मद्देनजर प्रशासन पूरी तरह सतर्क है।

LIVE……..

– भारत बंद बिहार : आरा में पत्थरबाजी, SDO समेत 7 लोग घायल।
– भिंड, ग्वालियर, मुरैना, श्योपुर, शिवपुरी, श्योपुर, शिवपुरी में इंटरनेट की सुविधा पर रोक लगा दी गई है।
– भिंड और मुरैना में कर्फ्यू लगा दिया हया है. पैरामिलिट्री फोर्स की 6 कंपनियों को तैनात किया गया है।
– राजस्थान में इस बार सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया गया है। जयपुर में मोबाइल इंटरनेट सुविधा पर रोक लगा दी गई है और शहर में धारा 144 लागू की गई है।
– आरा नगर थाने में आनंदनगर इलाके में बंद समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसक झड़प हुई है. दोनों तरफ से फायरिंग की जा रही है।
– इसके अलावा आरा में ही सैकड़ों युवाओं ने पटना पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया।
– आक्रोशित युवाओं ने रेल पटरी पर उतरकर आरक्षण के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
– बिहार: मुजफ्फरपुर में भारत बंद का असर, भगवानपुर चौक पर टायर जलाए गए
– मध्य प्रदेश: भारत बंद के मद्देनजर भिंड और मुरैना में कर्फ्यू, शिक्षण संस्थान बंद
– बिहार: आरक्षण के खिलाफ भारत बंद के दौरान भोजपुर में आगजनी
– भारत बंदः उत्तर प्रदेश में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए निर्देश जारी
– राजस्थानः भारत बंद के बाद भरतपुर में 15 अप्रैल तक धारा 144 लागू
– मध्य प्रदेश के संवेदनशील जिलों में प्रशासन की ओर से कर्फ्यू लगाया गया है।
– राजस्थान में धारा 144 लागू करते हुए कई हिस्सों में अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है।
– पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट सेवाओं को प्रतिबंधित किया गया है।

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म