Home » राष्ट्रमंडल खेल (भारोत्तोलन) : गुरुराज ने रजत जीत खोला भारत का खाता

राष्ट्रमंडल खेल (भारोत्तोलन) : गुरुराज ने रजत जीत खोला भारत का खाता

गोल्ड कोस्ट (आस्ट्रेलिया)| गुरुराज ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को पहला पदक दिला दिया है। उन्होंने भारोत्तोलन में 56 किलोग्राम भारवर्ग में गुरुवार को रजत पदक पर कब्जा जमाया। गुरुराज ने स्नैच में 111 का स्कोर किया तो वहीं क्लीन एंड जर्क में 138 का स्कोर किया। उन्होंने कुल 249 का स्कोर करते हुए पदक अपने नाम किया। इस स्पर्धा का स्वर्ण मलेशिया के मुहामेद इजहार अहमद हाजालवा के नाम रहा। उन्होंने कुल 261 का स्कोर किया। उन्होंने स्नैच में 117 का स्कोर किया जो एक नया गेम रिकार्ड है। इस मामले में उन्होंने नई दिल्ली में 2010 में खेले गए राष्ट्रमंडल खेलों में अपने हमवतन इब्राहिम द्वारा स्थापित किए रिकार्ड को ध्वस्त किया। क्लीन एंड जर्क में मलेशियाई खिलाड़ी ने 144 का स्कोर किया। स्पर्धा में कांसा श्रीलंका के चाटुरंगा लकमल के नाम रहा। उन्होंने स्नैच में 110 और क्लीन एंड जर्क में 134 का स्कोर किया। इजहार ने पिछले साल राष्ट्रमंडल चैम्पियनशिप में जीत हासिल की थी। उन्होंने एक किलोग्राम से अपने उस स्कोर को बेहतर किया। फिजी के मैनुएली तुलो ने काफी मेहनत की, लेकिन वो सिर्फ चौथा स्थान हासिल कर सके। तुलो काफी समय तक पदक की दौड़ में थे लेकिन आखिरी के दो प्रयासों में वो सफलता हासिल नहीं कर सके और पदक से चूक गए। गुरुराज ने अच्छी शुरुआत की और पहले प्रयास में ही बढ़त ले ली। उन्होंने स्नैच में पहला प्रयास 107 किलोग्राम के किया जो सफल रहा। तुलो ने दूसरे प्रयास में 108 किलोग्राम का भार उठाया, लेकिन उनके प्रयास में तकनीकी गलती के कारण ज्यूरी ने उसे नकार दिया। लकमल ने 110 किलोग्राम का पहला भार उठाया और सफलता हासिल की। इजहार ने हालांकि 114 किलोग्राम का भार उठाते हुए सफलता हासिल की। इसके बाद उन्होंने दूसरे प्रयास में 117 किलोग्राम का भार उठाते हुए गेम रिकार्ड हासिल किया। उनके पास अपने इस रिकार्ड को और बेहतर करने का मौका था लेकिन 119 किलोग्राम के प्रयास में वह चूक गए।

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म