Home » अजित सिंह की पार्टी RLD में नहीं बचा कोई MLA, इकलौते विधायक ने थामा BJP का दामन

अजित सिंह की पार्टी RLD में नहीं बचा कोई MLA, इकलौते विधायक ने थामा BJP का दामन

नई दिल्ली/लखनऊ: उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के इकलौते विधायक सहेंद्र सिंह रमाला बीजेपी में शामिल हो गए हैं. वे बागपत के छपरौली से विधायक हैं. सोमवार (30 अप्रैल) को उन्होंने लखनऊ पहुंचकर बीजेपी की सदस्यता ली. आपको बता दें कि हाल ही में राष्ट्रीय लोक दल (RLD) ने उनको अपनी पार्टी से निकाल दिया था. सोमवार (30 अप्रैल) को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र नाथ पांडेय ने रमाला और उनके साथ शामिल होने वाले 24 से अधिक ग्राम प्रधानों और दो ब्लॉक प्रमुखों को पार्टी की सदस्यता दिलाई. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की वर्तमान विधानसभा में राष्ट्रीय लोकदल की प्रतिनिधित्व शून्य हो गया है. प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय का कहना है की रमाला के आने से पश्चिमी यूपी में बीजेपी मजबूत होगी.

बीजेपी सरकार के कामकाज से हुए प्रभावित
सहेंद्र सिंह रमाला ने बीजेपी की नीतियों, योगी सरकार और केंद्र की मोदी सरकार के कामकाज से प्रभावित होकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. सहेंद्र सिंह रमाला बागपत के छपरौली से विधायक हैं. इनके क्षेत्र में 101  गांव आते हैं. सोमवार (30 अप्रैल) को उन्होंने अपने साथ दो दर्जन से अधिक ग्राम प्रधानों और दो ब्लॉक प्रमुखों को पार्टी की सदस्यता दिलाई.

राज्यसभा चुनाव में लगा था क्रॉस वोटिंग का आरोप
आपको बता दें कि हाल ही में हुए राज्यसभा चुनाव में सहेंद्र सिंह रमाला पर क्रॉस वोटिंग करने का आरोप लगा था. इसके बाद ही उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था. लोकसभा चुनाव से पहले रमाला के बीजेपी में शामिल होने से RLD और कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है.

कभी RLD अध्यक्ष के हुआ करते थे बेहद खास 
सहेंद्र सिंह रमाला आरएलडी अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह के बेहद खास माने जाते थे, लेकिन यूपी में हुए राज्यसभा चुनाव के दौरान उन्होंने बीजेपी को क्रॉसवोट किया था, जिसके बाद दोनों के बीच मतभेद हुआ. सहेंद्र सिंह रमाला के क्रॉसवोट करने से बीजेपी का नौंवा प्रत्यशी जीत गया था और बीएसपी के प्रत्याशी को हार मिली थी. चौधरी अजीत सिंह ने इसके बाद रमाला को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था.

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म