चीन बॉर्डर पर भारत करेगी पहला युद्ध अभ्यास, सेना दिखाएगी अपना दम

नई दिल्ली। भारतीय सेना और वायुसेना चीन के बॉर्डर से पास अक्टूबर में एक बड़ा युद्ध अभ्यास करने वाली है। भारतीय सेना की एकमात्र माउंटेन स्ट्राइक कोर के 5,000 से अधिक जवान अक्टूबर में अरुणाचल प्रदेश में वायु सेना के साथ बड़े पैमाने पर युद्ध अभ्यास करेंगे। चीन बॉर्डर पर यह पहला युद्ध अभ्यास होगा।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, तेजपुर स्थित 4 कोर को हाई अल्टीट्यूड पर अपनी सेना की रक्षा के लिए तैनात किया जाएगा जबकि 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर के 2500 जवानों को एयर फोर्स एयरलिफ्ट करेगी। स्ट्राइक कोर के जवान युद्धाभ्यास में 4 कोर के जवानों पर हवाई हमले करेंगे।

युद्धाभ्यास में एयरफोर्स अपने हाईटेक ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट सी-17, सी-130 सुपर हरक्युलिस और एएन-32 का इस्तेमाल करेगी। इन विमानों से जवानों को एयरलिफ्ट किया जाएगा। ये विमान बंगाल के बागडोगरा से जवानों को एयरलिफ्ट कर अरुणाचल प्रदेश के ‘वॉर जोन’ में उतारेंगे।

युद्धाभ्यास को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की देखरेख में इंटीग्रेटेड बेटल ग्रुप्स (आईबीजी) बनाए जाएंगे। आईबीजी दुश्मन के ठिकानों पर काफी तेजी से दूर तक हमले करेंगे।

ई-पत्रिका

धर्म

Scroll Up