विशेष दर्जे की मांग को लेकर आज आंध्रप्रदेश बंद, सडक़ पर उतरा विपक्ष

विशाखापत्तनम। आंध्रप्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग को लेकर आज आंध्रप्रदेश बंद है। बंद का ऐलान आंध्रप्रदेश प्रत्येक होडा साधना समिति की ओर से किया गया है। सोमवार सुबह से ही राज्य के अलग-अलग इलाकों में प्रदर्शन और विशेष राज्य की मांग को लेकर विरोध शुरू हो गया है और विपक्षी दल भी बंद का समर्थन कर रहे हैं। विशेष राज्य की मांग के साथ सोमवार को राज्य बंद का ऐलान करने वाली आंध्र प्रदेश प्रत्येक होडा साधना समिति से जुड़े लोग सडक़ों पर उतरे।

विपक्षी दल वाईएसआर कांग्रेस, कांग्रेस और लेफ्ट भी इस बंद का समर्थन कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश बंद के चलते कर्नाटक परिवहन की बसें केवल आंध्र प्रदेश सीमा तक ही जाएंगी। राज्य में एहतियातन पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया है। वहीं, आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार द्वारा आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने से मना करने के विराध में 20 अप्रैल को एक दिन का उपवास रखेंगे। तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष अपने 68वें जन्म दिवस पर विरोध प्रदर्शन कर केंद्र सरकार पर 2014 में आंध्रप्रदेश के बंटवारे के समय किए सभी वादों को पूरा करने का दबाव बनाएंगे।

उन्होंने यह घोषणा संसद के काम-काज बाधित होने के विरोध मेंप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 12 अप्रैल को उपवास रखने के बाद किया गया। नायडू ने सवालिया लहजे में कहा, क्या केंद्र सरकार संसद को सुचारु ढंग से नहीं चलने देने के लिए स्वयं जिम्मेदार नहीं है? प्रधानमंत्री सहित सभी मंत्रियों और भाजपा अध्यक्ष का उपवास महज एक तमाशा था।

ई-पत्रिका

धर्म

विचार

Scroll Up