सावधान, लंबे समय तक काम करने से बढ़ सकता है ब्लड प्रेशर

नई दिल्लीः एक नई रिसर्च में पाया गया है कि जो लोग लंबे समय तक काम करते हैं, वे अपने स्वास्थ्य को खतरे में डाल सकते हैं, हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम को बढ़ा सकते हैं.

कनाडा में शोधकर्ताओं की एक टीम ने क्यूबेक में तीन सार्वजनिक कंपनियों में 3,500 श्रमिकों के काम के घंटे और ब्लड प्रेशर को ट्रैक किया. उन्होंने पाया कि लंबे समय तक काम करने वाले कार्यालय कर्मचारी हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त होने की संभावना रखते हैं.

हाई ब्लड प्रेशर लगभग 75 मिलियन अमेरिकी वयस्कों को प्रभावित करता है यानि हर तीन वयस्कों में से एक. इसके अलावा, तीन वयस्कों में से एक को रक्तचाप होता है, जिसमें ब्लड प्रेशर की रीडिंग सामान्य से अधिक होती है. संयुक्त राज्य अमेरिका में अनुमानित 15 से 30 प्रतिशत वयस्कों में एक प्रकार की स्थिति होती है जिसे “मास्क हाइपरटेंशन” कहा जाता है, जिसका अर्थ है कि डॉक्टर के दौरे के दौरान उनकी ब्लड प्रेशर रीडिंग सामान्य है लेकिन कहीं और मापा जाने पर बढ़ जाता है.

पांच साल तक चलने वाले इस रिसर्च में तीन चरणों का परीक्षण किया गया, एक साल में, तीन साल और पांच साल तक. शोध के दौरान प्रतिभागियों का सुबह तीन बार रक्तचाप मॉनिटर होता था. जब श्रमिक काम पर होते हैं, तो उन्हें रक्तचाप निगरानी उपकरण पहनने के लिए कहा जाता था, जो हर 15 मिनट में रक्तचाप को मापता है, जिससे एक दिन में कम से कम 20 माप किया जा सकता था. शोधकर्ताओं ने रिसर्च में अन्य कारकों पर विचार किया जैसे धूम्रपान की स्थिति, नौकरी में तनाव, लिंग, आयु, शिक्षा स्तर, व्यवसाय, बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और अन्य स्वास्थ्य कारक.

लंबे समय तक काम और उच्च रक्तचाप –

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (एएचए) जर्नल हाइपरटेंशन में प्रकाशित, रिसर्च से पता चला है कि प्रत्येक सप्ताह 49 घंटे या उससे अधिक निरंतर घंटे काम करने से हाई ब्लड प्रेशर के विकास का जोखिम 66 प्रतिशत तक बढ़ जाता है और “मास्क हाइपरटेंशन” के विकास का एक 70 प्रतिशत बढ़ा जोखिम होता है.

शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि सप्ताह में 41 से 48 घंटे तक काम करने से 54 प्रतिशत “मास्क हाइपरटेंशन” होने का खतरा बढ़ जाता है और 42 प्रतिशत लम्बे समय तक हाई ब्लड प्रेशर होने की संभावना बढ़ जाती है.

ई-पत्रिका

धर्म

Scroll Up