Home » यूपी के लोगों को आज नई चीनी मिल की सौगात देंगे CM योगी आदित्यनाथ

यूपी के लोगों को आज नई चीनी मिल की सौगात देंगे CM योगी आदित्यनाथ

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार (29 मार्च) को बस्ती का दौरा करेंगे. जहां वो मुण्डेरवा के लोगों को नई चीनी मिल की सौगात देंगे. मुण्डेरवा में चीनी मिल की सह इकाई की तौर पर पावर प्लांट भी लग रहा है. जानकारी के मुताबिक सीएम योगी आदित्यनाथ दोपहर करीब 12.55 बजे मुण्डेरवा पहुंचेंगे और दोपहर करीब एक बजे नई चीनी मिल का शिलान्यास करेंगे. इसके साथ ही सीएम दोपहर में एक से दो बजे के बीच 30 करोड़ की लागत से बनने वाली 17 परियोजनाओं का भी शिलान्यास करेंगे.

385 करोड़ की लागत से बनेगी नई चीनी मिल
जानकारी के मुताबिक मुण्डेरवा में नई चीनी मिल बनाने में लगभग 385 करोड़ का खर्च आएगा. पहले चरण में 3500 टीडीसी गन्ना पेराई और 18 मेगा वाट के पावर प्लांट को शुरू किया जाना है. पब्लिक इंवेस्टमेंट बोर्ड ने इसके लिए 314.09 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट तैयार किया है.

डिस्टलरी को नहीं मिली स्वीकृति 
प्रदेश में बीजेपी सरकार बनने के बाद योगी सरकार ने चीनी मिल के साथ पावर प्लांट और डिस्टलरी लगाने की भी बात की थी, लेकिन जगह के अभाव की वजह से डिस्टलरी को स्वीकृति नहीं मिली.

मिली वित्तीय स्वीकृति
प्रशासन से इस काम के लिए वित्तीय स्वीकृति मिल गई है. पहली किस्त के तौर पर 90 करोड़ रुपए जारी हो गया है. पहले चरण में 3500 टीडीसी गन्ना पेराई और 18 मेगा वाट के पावर प्लांट को शुरू किया जाना है. जिसे अगले तीन साल में बढ़ाकर 5000 टीडीसी पेराई और 27 मेगा वॉट तक पावर प्लांट की क्षमता को बढ़ाया जाना है.

लोगों में उत्साह
करीब 20 साल बाद नई चीनी मिल की शुरू होने पर लोग काफी उत्साहित हैं. क्षेत्रवासियों का कहना है कि मिल के शुरू होने से हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा. लोगों का कहना है कि नई चीनी मिल लगने से लोगों को अब नौकरी के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा. बता दें यूपी में सरकार बनने के बाद योगी सरकार ने बस्ती के मुंडेरवा और गोरखपुर के पिपराइच में नई चीनी मिल के निर्माण की घोषणा थी.

मुंडेरवा में थी चीनी मिल
आपको बता देें कि मुंडेरवा में चीनी निगम की मिल यूनिट थी, लेकिन सरकारी उदासीनता और बकाया गन्ना मूल्य के चलते 2002 के आंदोलन में तीन किसानों की फायरिंग में मौत हो गई थी. मुण्डेरवा मिल को फिर से शुरू कराने की काफी सालों से मांग चल रही थी. सरकार के इस कदम से गन्ना किसानों और मिल कर्मचारी काफी खुश हैं.

ई-पत्रिका

मनोरंजन

धर्म