Shravan Purnima 2019: सावन की पूर्णिमा और रक्षाबंधन के दिन जरुर अपनाएं ये 5 टोटके, हर काम में मिलेगी सफलता

आज श्रावण शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि और बुधवार का दिन है। आज चतुर्दशी तिथि दोपहर 3 बजकर 46 मिनट तक ही रहेगी इसके बाद पूर्णिमा तिथि शुरू हो जाएगी। लिहाज़ा श्रावण मास की पूर्णिमा का व्रत आज ही है। आज चंद्रोदय शाम 06 बजकर 02 मिनट पर होगा। आज श्रवण नक्षत्र भी है। जो पूरा दिन और पूरी रात के बाद कल यानि गुरूवार सुबह 08 बजकर 02 मिनट तक रहेगा।

श्रवण नक्षत्र के स्वामी चंद्रमा हैं और आज पूर्णिमा की रात है जिसमें चंद्र देव के निमित्त व्रत कर उन्ही की आराधना की जाती हैं। इसीलिए आज के दिन श्रवण नक्षत्र में पूर्णिमा के व्रत और पूजा का विशेष फल साधक को ज़रूर मिलेगा। वहीं वैदिक ज्योतिष में श्रवण नक्षत्र की अधिष्ठात्री देवी मां सरस्वती को भी माना जाता है। इसीलिए आज के दिन विद्या से जुड़ा कोई कार्य भी ज़रूर सफल होता है। जानें आज कौन से उपाय करने से होगी हर मुराद पूरी।

  • सावन पूर्णिमा के दिन सुबह-सुबह पीपल के पेड़ को जल अर्पण करें। इसके साथ ही माता लक्ष्मी की पूजा-अर्चना करके भोग लगाएं। इससे आपकी हर मनोकामना पूर्ण होगी।
  • अगर घर पर आपको हमेशा धन संबंधी समस्या का सामना करना पड़ाता है तो सावन पूर्णिमा के दिन 11 कौड़ियां लें और इन्हें हल्दी लगाकर मां लक्ष्मी के सामने रखें। इसके साथ ही विधि-विधान से पूजा करें। इसके बाद इन कौड़ियों को लाल कपड़े में करके अपनी तिजोरी या फिर अलमारी में रख सकते है। इससे धीरे-धीरे धन की कमी खत्म हो जाएगी।
  • पूर्णिमा और रक्षाबंधन का दिन गणेश जी की आराधना के लिए अच्छा दिन माना जाता है। इस दिन इनकी पूजा- अर्चना के साथ पीली वस्तु का दान दें। इससे आपके ग्रह शांत होगे।
  • घर के मुख्य द्वार पर रंगोली बनाएं। इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर आपके घर जरुर आएगी।
  • सावन पूर्णिमा के दिन भगवान शिव को सफेद चंदन, सफेद फूल और साबूदाने की खीर का भोग लगाए। इससे आपको सुख-समृद्धि के साथ सौभाग्य की प्राप्ति होगी।

ई-पत्रिका

धर्म

Scroll Up