Home खेल मैनचेस्टर टी-20 : राहुल के शतक, कुलदीप के पंजे से हारी इंग्लैंड

मैनचेस्टर टी-20 : राहुल के शतक, कुलदीप के पंजे से हारी इंग्लैंड

6 second read
0
0
12

मैनचेस्टर। कुलदीप यादव के पंचे के बाद लोकेश राहुल (नाबाद 101) की तूफानी पारी के दम पर भारत ने मंगलवार देर रात ओल्ड ट्रेफर्ड स्टेडियम में खेले गए तीन टी-20 मैचों की सीरीज के पहले मैच में मेजबान इंग्लैंड को आठ विकेट से हरा दिया। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 160 रनों का लक्ष्य रखा। राहुल की बेहतरीन पारी के दम पर भारत ने इस लक्ष्य को 18.2 ओवरों में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया।

राहुल ने 54 गेंदों में 10 चौके और पांच छक्कों की मदद से शतकीय पारी खेली। यह उनका टी-20 में दूसरा शतक है। वह टी-20 में दो शतक लगाने वाले भारत के दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले रोहित ने टी-20 में दो शतक जड़े हैं। रोहित ने इस मैच में 32 रन बनाए और राहुल के साथ दूसरे विकेट के लिए 123 रनों की साझेदारी की।

राहुल और रोहित के बीच यह साझेदारी तब आई जब सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (4) सात के कुल स्कोर पर पहले ओवर की पांचवीं गेंद पर डेविड विले का शिकार हो गए।

रोहित ने दूसरे छोर से स्ट्राइक रोटेट कर राहुल को मौके दिए और राहुल ने इंग्लैंड के गेंदबाजों को जमकर धोया। इस साझेदारी को लेग स्पिनर आदिल राशिद ने इयोन मोर्गन के हाथों रोहित को कैच करा तोड़ा। रोहित 130 के कुल स्कोर पर आउट हुए।

रोहित के जाने के बाद हालांकि कप्तान विराट कोहली मैदान पर उतरे और राहुल के साथ तीसरे विकेट के लिए 33 रन जोड़ अपनी टीम को जीत दिला ले गए। कोहली ने इस मैच में नाबाद 20 रन बनाए। उन्होंने इसी के साथ टी-20 में अपने 2000 रन पूरे कर लिए हैं। वह टी-20 में सबसे तेजी से 2000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। कोहली ने इसके लिए 60 मैचों की 56 पारियों में यह मुकाम हासिल किया।

साथ ही वह टी-20 में 2000 रन बनाने वाले चौथे बल्लेबाज हैं। उनसे पहले न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैक्कलम, मार्टिन गुप्टिल और पाकिस्तान के शोएब मलिक खेल के सबसे छोटे प्रारूप में 2000 रन से ज्यादा बना चुके हैं।

इससे पहले कुलदीप ने इंग्लैंड को बड़ा स्कोर करने से महरूम रखा। अच्छी शुरुआत के बाद इंग्लैंड बड़े स्कोर की ओर जा रही थी, लेकिन कुलदीप ने 14वें ओवर में तीन विकेट लेकर उसे 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 159 रनों पर ही सीमित कर दिया।

चार ओवरों में सिर्फ 24 रन देने वाले कुलदीप ने 14वें ओवर में इंग्लैंड के तीन बल्लेबाजों- इयोन मोर्गन (7), जॉनी बेयर्सटो (0) और जोए रूट (0) को पवेलियन भेज उसके बड़े स्कोर की राह मुश्किल कर दी।

यह कुलदीप का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। इसी के साथ कुलदीप टी-20 में पांच विकेट लेने वाले पहले चाइनामैन गेंदबाज बन गए हैं। साथ ही वह खेल के इस सबसे छोटे प्रारुप में पांच या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले भारत के तीसरे गेंदबाज बने हैं। उनसे पहले भुवनेश्वर कुमार और युजवेंद्रा चहल ने यह उपलब्धि हासिल की है। दोनों इस मैच में भी खेले रहे हैं लेकिन एक भी विकेट नहीं ले सके।

हालांकि जोस बटलर की 46 गेंदों में आठ चौके और दो छक्कों की मदद से खेली गई 69 रनों की पारी के अलावा अंत में डेविड विले की 15 गेंदों में नाबाद 28 रनों की पारी इंग्लैंड को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा दिया।

कुलदीप के अलाव उमेश यादव ने दो और हार्दिक पांड्या ने एक विकेट लिया।

जेसन रॉय (30) और बटलर ने मेजबान टीम को मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पांच ओवरों में ही टीम के स्कोर को 50 तक पहुंचा दिया था। ओवर की आखिरी गेंद पर रॉय, उमेश की गेंद पर बोल्ड हो गए।

एलेक्स हेल्स मैदान पर आए, लेकिन बटलर के आगे शांत रहे। उन्होंने बटलर के साथ 45 रनों की साझेदारी कि जिसमें उनका योगदान सिर्फ आठ रन था। कुलदीप ने उन्हें बोल्ड कर अपना खाता खोला।

इंग्लैंड मजबूत स्कोर की तरफ बढ़ रहा था, लेकिन तभी कुलदीप ने अपना जादू चलाया और 14वें ओवर में तीन विकेट लेकर मेजबानों की कमर तोड़ दी। कुलदीप ने इस ओवर में इंग्लैंड के मध्यक्रम को सस्ते में पवेलियन भेज दिया। चाइनामैन ने अपना पहला शिकार कप्तान मोर्गन को बनाया। मोर्गन 106 के कुल स्कोर पर विराट कोहली के हाथों लपके गए। एक गेंद बाद बेयर्सटो, कुलदीप की गेंद को पकड़ नहीं पाए और महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें स्टम्प किया।

जोए रूट को भी कुलदीप की गुगली की भनक नहीं लगी और वो भी धोनी के हाथों स्टम्प हो गए। इंग्लैंड का स्कोर 107 रनों पर पांच विकेट था। 10 रन बाद हार्दिक पांड्या ने मोइन अली (6) सुरेश रैना के हाथों कैच करा इंग्लैंड को छठा झटका दिया।

बटलर से उम्मीद थी कि वो अंत में कुछ बड़े शॉट खेलेंगे। उन्होंने खेले भी, लेकिन कुलदीप द्वारा फेंके गए 18वें ओवर की चौथी गेंद पर वह सीमा रेखा के पास कोहली के हाथों लपके गए।

अंत में विले ने कुछ रन बटोर इंग्लैंड को 159 का स्कोर प्रदान किया।

Load More In खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

विंबलडन ओपन 2018: नोवाक जोकोविच चौथी बार बने चैंपियन, 13वीं ग्रैंडस्लैम ट्रॉफी जीती

सर्बियाई स्टार नोवाक जोकोविच ने फाइनल में केविन एंडरसन को आसानी से 6-2, 6-2 , 7-6 (7-3) से…