Home अंतरराष्ट्रीय मुंबई हमले पर मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया : नवाज़ शरीफ

मुंबई हमले पर मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया : नवाज़ शरीफ

2 second read
0
0
17

मुंबई में 2008 में हुए आतंकी हमले पर अपने कबूलनामे को लेकर निशाने पर आए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने दावा किया कि मीडिया ने उनकी टिप्पणियों की ‘गलत व्याख्या’ की.
शरीफ ने एक इंटरव्यू में पहली बार सार्वजनिक रूप से यह माना था कि पाकिस्तान में आतंकवादी संगठन सक्रिय हैं. उन्होंने सीमा पार करने तथा मुंबई में लोगों की ‘हत्या’ के लिए ‘नॉन स्टेट एक्टर्स’ को अनुमति देने की नीति पर सवाल उठाया था. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री (68) ने कहा था कि पाकिस्तान ने खुद को अलग-थलग कर लिया है.
शरीफ के प्रवक्ता ने कहा, “शुरु में भारतीय मीडिया ने नवाज शरीफ के बयान का गलत मतलब निकाला. दुर्भाग्य से बयान के सभी तथ्यों को जाने बगैर पाकिस्तान के इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया के एक वर्ग ने भी जानबूझकर या अनजाने में न सिर्फ इसकी पुष्टि की बल्कि भारतीय मीडिया के दुष्प्रचार को बल दिया. ”
नवाज शरीफ के छोटे भाई शाहबाज शरीफ ने भी कहा कि मीडिया ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया है. उन्होंने कहा, “क्या कोई विश्वास कर सकता है कि नवाज शरीफ कोई ऐसी चीज कहेंगे.”

मुंबई हमलों को लेकर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बयान को लेकर पाकिस्तानी सेना सोमवार को एक उच्चस्तरीय बैठक करेगी. पाकिस्तानी अधिकारियों ने रविवार को यह सूचना दी.
बता दें कि नवाज शरीफ ने पहली बार सार्वजनिक रूप से एक इंटरव्यू में माना कि पाकिस्तान में आतंकी संगठन सक्रिय हैं. उन्होंने ‘नॉन स्टेट एक्टर्स’ के सीमा पार करने और लोगों की हत्या करने की पाकिस्तान की नीति पर सवाल उठाए थे. शरीफ ने कहा था कि क्या पाकिस्तान को ‘नॉन स्टेट ऐक्टर्स’ को सीमा पार करने और मुंबई में लोगों की ‘हत्या करने’ की इजाजत देनी चाहिए.
पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने टि्वटर पर कहा कि प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को उच्चाधिकार प्राप्त राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बैठक बुलाने का सुझाव दिया गया.
दरअसल नवाज शरीफ ने बीते शुक्रवार को डॉन के साथ एक खास इंटरव्यू में मुंबई हमलों से जुड़े मुकदमे को अंजाम तक पहुंचाने में की जा रही देरी को लेकर भी आलोचना की थी.
इस बयान के चलते शरीफ को विपक्षी नेताओं और उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) से अलग हुए लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है. इन लोगों का कहना है कि शरीफ ने बयान देकर मुंबई हमलों में भारतीय रुख का समर्थन किया है और देश के राष्ट्रीय हितों को नुकसान पहुंचाया है.
शरीफ के बयान पर क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ने कहा कि शरीफ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाषा बोल रहे हैं और देश को नुकसान पहुंचाने के लिए पाकिस्तान के दुश्मनों का समर्थन कर रहे हैं.

Load More In अंतरराष्ट्रीय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अरुणाचल प्रदेश को अपने ‘नियंत्रण’ में करने के लिए सीमा पार खनन कार्य कर रहा है चीन : रिपोर्ट

बीजिंग: चीन ने अरुणाचल प्रदेश की सीमा से लगे अपने क्षेत्र में बड़े पैमाने पर खनन कार्य शुर…